Skip to main content

Posts

Blood important 50 Tyaps Information se

रक्त के 50 रोचक तथ्य"*Blood एक शारीरिक तरल (द्रव) है जो रक्त वाहिनियों के अन्दर विभिन्न अंगों में लगातार बहता रहता है। रक्त वाहिनियों में प्रवाहित होने वाला रक्त गाढ़ा, कुछ चिपचिपा, लाल रंग का द्रव्य, एक जीवित ऊतक है। रक्त, प्लाज्मा और रक्त कणों से मिल कर बना होता है। प्लाज्मा एक निर्जीव और तरत माध्यम है, जिसमें रक्त कण तैरते रहते हैं। प्लाज्मा के माध्यम से ही रक्त के कण सम्पूर्ण शरीर में पहुँचते रहते हैं। आइये जानते है|*
संरचना के आधार पर मनुष्य के रक्त को दो भागों में विभक्त किया गया है-प्लाज्मा: आयतन के आधार पर लगभग 55 से 60% भाग।
रुधिर कणिकाएँ या रुधिराणु:लगभग 40 से 45% भाग।रक्त के कार्य: रक्त श्वसनांगों (फेफड़ों आदि) से ऑक्सीजन O2 को लेकर शरीर की विभिन्न कोशिकाओं में पहुँचाता है।
पोषक तत्वों को ले जाना जैसे ग्लूकोस, अमीनो अम्ल और वसा अम्ल (रक्त में घुलना या प्लाज्मा प्रोटीन से जुडना जैसे- रक्त लिपिड)।
उत्सर्जी पदार्थों को बाहर करना जैसे- यूरिया कार्बन, डाई आक्साइड, लैक्टिक अम्ल आदि।
प्रतिरक्षात्मक कार्य।
संदेशवाहक का कार्य करना, इसके अन्तर्गत हार्मोन्स आदि के संदेश देना।शरीर …
Recent posts
प्रकृति में बाढ़, सूखा, भूकम्प, सुनामी जैसी आकस्मिक आपदा समय-समय पर आती ही रहती हैं और इनके कारण जीवन और सम्पत्ति की बहुत हानि होती है। अतः यह बहुत महत्त्वपूर्ण है कि इन प्राकृतिक आपदाओं का सामना करने और जहाँ तक सम्भव हो इन आपदाओं को कम से कम करने के उपाय और साधन खोजे जाएँ।बाढ़ों को कई प्रकार से नियंत्रित किया जा सकता है। वृक्षारोपण करके (वृक्ष लगा कर) बहकर आने वाले जल की मात्रा कम करने से बाढ़ के पानी का स्तर भी घट जायेगा। जंगल बारिश के पानी को भूमि के अंदर जाने का रास्ता देते हैं। इससे भूमिगत जल स्तर पुनः स्थापित होता है और पानी का व्यर्थ बहना कम हो जाता है। बांधों के निर्माण से पानी का भंडारण होता है और बाढ़ के जल में कमी आती है। बांध पानी को एकत्रित कर सकते हैं, इस कारण पानी नीचे नदियों तक नहीं पहुँच पाता। यदि बांध में एकत्रित पानी सीधा नदियों तक पहुँचे तो बाढ़ की स्थिति पैदा हो सकती है। बांधों से पानी को नियंत्रित रूप में छोड़ा जाता है। नदी/नहर/नालों से गाद निकालकर उन्हें गहरा करने से और तटों को चौड़ा करने से उनमें अधिक पानी भरने की धारण क्षमता बढ़ जाती है।

* National Hindi Language Day 14 September Indian

राष्ट्रीय हिन्दी दिवस 14 सितम्बर

हिंदी दिवस (Hindi Diwas) हर साल 14 सितंबर (14 September) को मनाया जाता है. हिंदी विश्व की प्राचीन, समृद्ध और सरल भाषा है. हिंदी (Hindi) भारत ही नहीं बल्कि दुनिया के कई देशों में बोली जाती है. हिंदी हमारी 'राजभाषा' (Hindi Rajbhasha) है. दुनिया की भाषाओं का इतिहास रखने वाली संस्था एथ्नोलॉग (Ethnologue) के मुताबिक हिंदी दुनिया में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली तीसरी भाषा है. हिंदी हमें दुनिया भर में सम्मान दिलाती है. 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से यह निर्णय लिया कि हिंदी ही भारत की राजभाषा होगी. इस निर्णय के बाद हिंदी को हर क्षेत्र में प्रसारित करने के लिए राष्ट्रभाषा प्रचार समिति, वर्धा के अनुरोध पर 1953 से पूरे भारत में 14 सितंबर को हर साल हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाने लगा.*

*क्‍या है हिन्‍दी दिवस का इतिहास?*

*👉🏻🇮🇳वैसे तो भारत विभिन्‍न्‍ताओं वाला देश है. यहां हर राज्‍य की अपनी अलग सांस्‍कृतिक, राजनीतिक और ऐतिहासिक पहचान है. यही नहीं सभी जगह की बोली भी अलग है. इसके बावजूद हिन्‍दी भारत में सर्वाधिक बोली जाने वाली भाषा है. यह…

Viral uttarakhand hospital reports heights report Wake up wake up government of uttarakhand

🙏 #जागो उत्तराखंड सरकार जागो🙏

   Viral uttarakhand hospital reports heights  report

क्यों न करे पलायन, पहाड़ से मेरे शूरवीर नेताओं। एक भाई ने मुझे फोन किया कि मेरे बच्चे को स्कूल में चक्कर आए। स्कूल की टीचर ने कहा इसका इलाज करवाओ। गांव का भाई अपने बच्चे को जिला अस्पताल पौड़ी ले गया। डॉक्टर ने उन्हें देहरादून रैफर कर दिया। जिस अस्पताल में रैफर किया उन्होंने देहरादून के दून अस्पताल में MRI करवाने के लिए रैफर कर दिया। जब वह छात्र दून अस्पताल पंहुचा तो वंहा के कर्मचारी ने बताया MRI मशीन पिछले 6 महीने से खराब पड़ी है। फिर देहरादून के जिस अस्पताल के डाक्टर ने रैफर किया उनसे कहा गया डाक्टर साहब वंहा  तो मशीन खराब  है। डॉक्टर ने अबकी बार सिटी स्कैन के लिए लिख दिया। जब वह दून अस्पताल पंहुचा तो कर्मचारी ने बताया कि सिटी स्कैन तो सुबह  से  खराब है। इस कसमकस में पूरा एक हफ्ता बर्बाद हो गया। बच्चे की पढ़ाई का हर्जाना, ऊपर से बच्चे के  बाप का दिहाड़ी का नुकसान। देहरादून में रहने और खाने-पीने का खर्चा। क्या सरकार  ऐसे चलती है। उतराखंड के मुख्यमंत्री जी कृपया ध्यान दीजिए। सुरक्षित भविष्य…

Plant trees, save lives, save the earth, save the earth

प्रकृति में बाढ़, सूखा, भूकम्प, सुनामी जैसी आकस्मिक आपदा समय-समय पर आती ही रहती हैं और इनके कारण जीवन और सम्पत्ति की बहुत हानि होती है। अतः यह बहुत महत्त्वपूर्ण है                                                                                          
कि इन प्राकृतिक आपदाओं का सामना करने और जहाँ तक सम्भव हो इन आपदाओं को कम से कम करने के उपाय और साधन खोजे जाएँ।बाढ़ों को कई प्रकार से नियंत्रित किया जा सकता है। वृक्षारोपण करके (वृक्ष लगा कर) बहकर आने वाले जल की मात्रा कम करने से बाढ़ के पानी का स्तर भी घट जायेगा। जंगल बारिश के पानी को भूमि के अंदर जाने का रास्ता देते हैं। इससे भूमिगत जल स्तर पुनः स्थापित होता है और पानी का व्यर्थ बहना कम हो जाता है। बांधों के निर्माण से पानी का भंडारण होता है और बाढ़ के जल में कमी आती है। बांध पानी को एकत्रित कर सकते हैं, इस कारण पानी नीचे नदियों तक नहीं पहुँच पाता। यदि बांध में एकत्रित पानी सीधा नदियों तक पहुँचे तो बाढ़ की स्थिति पैदा हो सकती है। बांधों से पानी को नियंत्रित रूप में छोड़ा जाता है। नदी/नहर/नालों से गाद निकालकर उन्हें गहरा करने से और तटों को …

Costa ranked Romero the most epic at UFC 241

It was a fight that was booked in November last year, re-planned earlier this year and did not happen for several reasons. till now. And the finished product was even better than expected. Paulo Costa defeated Joel Romero by unanimous decision (29-28, 29-28, 29-28) in a major middleweight fight at UFC 241 on Saturday. But the scores were hardly story. Honda Center fans, who were all-night supporter Romero, later praised Costa. This was unfortunate, as the fight was fought by both men.

From the opening bell, Romero and Costa threw the hammers. Both were eliminated in the first round, and Costa was later bloodied. The third round was probably the best ever. The battle itself was the definitive battle of the year contender.
Yoel ROMERO NEXT FIGHT
Costa finally raised his hand and said he looked forward to the UFC middleweight title. Robert Whittaker and Israel Adesanya will unify the belt at UFC 243 in Melbourne, Australia on 6 October. "After this fight, I want me to prove that I …

भारत की No. 1 सबसे अच्छी डाइरेक्ट सेलि़ग कम्पनी Glaze Trading india pvt Ltd indian Direct selling Associates से प्रमाणित

भारत की सबसे अच्छी डाइरेक्ट सेलि़ग कम्पनी Glaze Trading india pvt Ltd indian Direct selling Associates से प्रमाणित
Glaze Trading india pvt